अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद स्वाधीनता के पश्चात से भारत मां की सेवा में निरन्तर कार्यरत, देश का एक महत्वपूर्ण छात्र संगठन बन गया है। संगठित रूप से सघन तथा सकारात्मक विचार के आधार पर निश्चित दिशा में सतत चलने की उसके कार्यकर्ताओं की सामूहिक संकल्प शक्ति से यह संभव हो पाया है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद एकमात्र ऐसा छात्र संगठन है जो अपने स्थापना काल से लेकर आज तक शिक्षा के क्षेत्र में और समाजिक क्षेत्र में आने वाली किसी भी प्रकार की समस्याओं के प्रति प्रशासन तक आवाज उठाता है। इसी कड़ी को जोड़ते हुए आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद सुन्नी इकाई द्वारा सुन्नी महाविद्यालय की प्रधानाचार्या के माध्यम से कुलपति को शिक्षा के क्षेत्र में आ रही विभिन समस्याओ को लेकर ज्ञापन सौंपा।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की निम्नलिखित मांगे हैं।

*० UG और PG के आधे अधूरे परिणाम को शीघ्र घोषित किया जाए।
*० महाविद्यालय में रिक्त पढ़ी सीटों को भरने के लिए दाखिले की तिथि बढ़ाई जाए।
*० प्रत्येक महाविद्यालय में स्थाई प्रधानाचार्य की नियुक्ति की जाए।
*० जो छात्र covid-19 के दौर में परीक्षा फॉर्म भरने से रह गये है, परीक्षा फॉर्म भरने का मौका दिया जाए।
*० जिन छात्रो को किन्ही कारणों से असेसमेंट और असाइनमेंट के नंबर किन्ही कारणों से नहीं लगे है, उन छात्रो को नंबर लगाने हेतु पोर्टल खोला जाए।
*० सभी महाविद्यालयो में शिक्षको और गैर शिक्षकों के रिक्त पड़े पदों को शीघ्र भरा जाए।

विद्यार्थी परिषद जल्द से जल्द इन सभी मांगो को पूरा करने की आशा करती है अन्यथा विद्यार्थी परिषद सड़को पर उतरने से भी पीछे नहीं हटेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here