अंतर्राष्टीय आपदा न्यूणीकरण दिवस — आपदा की स्थिति में मानसिक, शारीरिक व भावनात्मक तौर पर सजग व संयमित रखे

Date:

Share post:

अंतर्राष्टीय आपदा न्यूणीकरण दिवस

अंतर्राष्टीय आपदा न्यूणीकरण दिवस कीकली रिपोर्टर, 13 अक्टूबर, 2018, शिमला

समाज के प्रत्येक व्यक्ति को किसी भी प्रकार की आपदाओं के नुकसान को कम करने में समर्थवान बनाना ही हिमाचल प्रदेश राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण का मुख्य उद्देश्य है। यह बात अतिरिक्त मुख्य सचिव (राजस्व) मनीषा नंदा ने अंतर्राष्टीय आपदा न्यूणीकरण दिवस के अवसर पर गेयटी थियेटर में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता के उपरांत उपस्थिति विभिन्न स्कूल के एनएसएस, एनसीसी छात्रों, नेहरू युवा केंद्र व अन्य स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिभागियों को अपने सम्बोधन में कही। इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने प्रदेश व जिला में विभिन्न प्रकार की प्राकृतिक आपदाओं में उत्कृष्ठ सहयोग देने वाले व्यक्तियों तथा ‘समर्थ’ 2018 के दौरान आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया।

अंतर्राष्टीय आपदा न्यूणीकरण दिवस इससे पूर्व उन्होंने ऐतिहासिक रिज मैदान परजिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा लगाई गई दो दिवसीय जागरूकता प्रदर्शनी का निरीक्षण भी किया। उन्होंने प्रदर्शनी में विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय कम्पनियों व सरकारी संस्थाओं द्वारा स्थापित स्टालो के माध्यम से प्राकृतिक व मानव जनित आपदाओं से होने वाली क्षति को कम करने के लिए विभिन्न प्रकार के अत्याधुनिक उपकरणों व उसके प्रयोग करने के तरीकों की महत्वपूर्ण जानकारी उपस्थित छात्रों व लोगों को दी।

अंतर्राष्टीय आपदा न्यूणीकरण दिवस नंदा ने प्रत्येक नागरिक को आपदा की स्थिति में मानसिक, शारीरिक व भावनात्मक तौर पर सजग व संयमित रहने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि किसी भी आपदा की क्षति को कम करने के लिए समाज के प्रत्येक वर्ग का सहयोग अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष जुलाई मास से अब तक प्रदेश में भारी बरसात के कारण 1563 करोड़ का नुकसान हुआ है जिसमें सबसे अधिक सड़कें व पुल क्षतिग्रस्त हुए हैं। बरसात के दौरान विपरीत परिस्थितियों से निपटने में गृहरक्षक, पुलिस फोर्स, अग्निशमन कर्मी, स्वयं सेवी संस्थाएं, एन.डी.आर.एफ.,स्वयं सेवी संस्थाएं व समाज के प्रत्येक वर्ग का भरपूर सहयोग प्राप्त हुआ जिसके लिए ये सभी बधाई व प्रशंसा के पात्र है।

अंतर्राष्टीय आपदा न्यूणीकरण दिवस उन्होंने कहा कि प्रदेश आपदा प्रबंधन प्राधिकरण का प्रयास है कि विभिन्न प्रकार की आपदा घटित होने से पूर्व की जाने वाली तैयारियां समय रहते की जाएं। प्रदेश के गांव व शहरों से अधिक से अधिक स्वयंसेवियों को आपदा घटने पर राहत एवं बचाव कार्यो के लिए प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

इस अवसर पर विशेष सचिव राजस्व डी.सी.राणा ने प्रदेश में विभिन्न प्रकार की आपदाओं से निबटने के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी दी। उन्होंने सभी छात्रों को जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा आयोजित जागरूकता कार्यक्रम से प्राप्त ज्ञानवर्धक प्रशिक्षण व जानकारी को अपने मित्रों, आस-पड़ोस व परिवार के सदस्यों से बांटने का आग्रह किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

CM Sukhu urges Nitin Gadkari to declare new National Highways

Chief Minister Thakur Sukhvinder Singh Sukhu urged Union Minister for Road Transport and National Highways Nitin Gadkari to...

Himachal Samachar 17 07 2024

https://youtu.be/CEsZNu7KtHo Daily News Bulletin

देओरी-खनेटी स्कूल में खेल प्रतियोगिता का समापन

शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर ने आज कोटखाई क्षेत्र के प्रवास के दौरान राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला देओरी-खनेटी में...

मेले हमारी समृद्ध संस्कृति का अभिन्न अंग – रोहित ठाकुर

शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर ने अपने ठियोग विधानसभा क्षेत्र के प्रवास के दौरान मंगलवार को ग्राम पंचायत जुदन...