मंडी, 30 अक्तूबर :

मंडी जिला में नशा मुक्त भारत अभियान के तहत चलाए गए विभिन्न कार्यक्रमों व गतिविधियों की समीक्षा करते हुए अतिरिक्त उपायुक्त जतिन लाल ने अभियान को गति प्रदान करने के लिए सम्बधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिला में 15 अगस्त, 2020 से 31 मार्च, 2021 तक चलाए जा रहे इस विशेष अभियान के तहत हर स्तर पर नशीले पदार्थों के विरूद्ध जागरूकता फैलाई जा रही हैं।
अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि यह बेहद जरूरी है कि हम अपनी युवा पीढ़ी को नशे की गर्त में जाने से रोकने के लिए मिलकर प्रयास करें। इस अभियान के तहत मिशन मोड पर काम करते हुए जन जन को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नशा समाज के लिए अभिशाप है। अभियान के तहत हर स्तर पर युवाओं को नशे की बुराईयों व इसके मानव शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभावों बारे जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने युवा पीढ़ी से आह्वान किया कि नशीले पदार्थों के सेवन से दूर रहकर अपनी ऊर्जा को समाज के नव निर्माण के कार्य में लगाएं।
उन्होंने अभिभावकों से अपील की कि वे बच्चों को नशे से दूर रहने बारे जागरुक करें। उन्होंने इसमें अध्यापकों से भी सहयोग का आह्वान करते हुए कहा कि वे ई-पीटीएम के माध्यम से भी अभिभावकों को बच्चों को नशे की गिरफ्त से बचाने को उनका ध्यान रखें एवं जागरूक करें।
उन्होंने नेहरु युवा केन्द्र तथा जिला युवा सेवाएं एवं खेल विभाग के स्वयं सेवियों को भी अभियान से जोड़ने तथा लोगों को जागरुक करने बारे दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने जिला की सभी नगर निकायों तथा ग्रामीण क्षेत्रों में घरेलु गैस आपूर्ति के लिए चल रही गाड़ियों में नशा मुक्ति के संदेश का प्रचार व प्रसार करने के सम्बधित अधिकारियों को निर्देश दिए।
अतिरिक्त उपायुक्त ने मंडी व सुन्दरनगर शहर में लगी एलईडी स्क्रीनों पर भी नशा मुक्ति के संदेशों के माध्यम से लोगों को जागरुक करने के निर्देश दिए। उन्होंने पुलिस तथा शिक्षण संस्थानों से यह सुनिश्चित करने को कहा कि शिक्षण संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में तम्बाकु व नशीले पदार्थो की बीक्री न हो।
उन्होेंने खण्ड विकास अधिकारियों के माध्यम से पंचायत स्तर पर अभियान को गति प्रदान करने के लिए निर्देश दिए। उन्होंने महिला एवं बाल विकास, महिला मण्डल, युवक मण्डल, पंचायतीराज संस्थानों तथा स्वास्थ्य विभाग से भी अभियान की सफलता करने के लिए कहा।
उन्होंने बताया कि अभियान के तहत हर सप्ताह अलग-अलग थीम पर आधारित गतिविधियां की जा रही हैं। नशे के विरूद्ध लोगों को जागरूक करने के लिए एक डाक्यूमैंटरी भी तैयार कर उसका व्यापक प्रसार किया जाएगा। अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि जिला में सभी सम्बन्धित विभाग अभियान की सफलता के लिए मिलकर प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि नशा किसी भी प्रकार का हो, वह परिवार, समाज और व्यक्ति को अंदर से खोखला कर देता है। समाज को नशा मुक्त बनाने के लिए हर परिवार को अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभानी चाहिए। उन्होंने कहा कि लोगों को जागरूक करने के लिए हर स्तर पर कार्य किए जा रहे हैं।
जिला कल्याण अधिकारी एवं सदस्य सचिव नशा मुक्त भारत अभियान रमेश बंसल ने अभियान बारे विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि 31 मार्च, 2021 तक हर माह के दौरान गांव-गांव में नशे के खिलाफ विभिन्न गतिविधियां जारी रहेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here