बर्फ और मैं 

Date:

Share post:

डॉ. अंजली दीवान, ग्रह विज्ञान विभाग, सेंट बीडज कालेज, शिमला

बर्फ की मैं हूँ दीवानी
जब यह आती है तब मैं करती हूँ स्वागत ।
हाथों में ले भीग-भीग जाती हूँ
ठंड होते हुए भी नहीं होता
उसका एहसास ।

निकल पड़ती हूँ सड़क पर
बिना छाते के
उसके फाहों का नहीं कोई भार
बस छू कर निकल जाते हैं ।

उनको आसमां ने भेजा
वो नीचे आये पानी बनकर
समां गए धरती में ।
कोई शिकवा नहीं, गिला नहीं,
कोई अस्तित्व भी नहीं
न कोई अपेक्षाएं, न कोई महत्वकांक्षाएं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

शिक्षा मंत्री ने की “शान ए नुनाड़” वॉलीबाल प्रतियोगिता के समापन समारोह की अध्यक्षता 

शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर ने जुब्बल के शुराचली क्षेत्र के अंतर्गत झगटान में नवयुवक मण्डल झगटान द्वारा आयोजित...

शिक्षा मंत्री ने झड़ग-नकराड़ी स्कूल के भवन का किया लोकार्पण

शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर आज जुब्बल क्षेत्र के एक दिवसीय प्रवास के दौरान झड़ग, ठाना, मांदल और झगटान के...

विक्रमादित्य सिंह ने संजीवनी सहारा समिति के सम्मान समारोह में की शिरकत

संजीवनी सहारा समिति द्वारा 5वां संजीवनी प्रतिभा सम्मान समारोह "शान ए रोहड़ू" का आयोजन रविवार को रोहड़ू के...

Himachal Samachar 14 07 2024

https://youtu.be/1c-QBfjWfwg?si=oQZmXz-9d-KKZl8a Daily News Bulletin