राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बालूगंज की राष्ट्रीय सेवा योजना की टीम ने 7 दिवसीय कैम्प के तीसरे दिन हिमाचल प्रदेश जाइका वानिकी परियोजना मुख्यालय पॉटरहिल, शिमला का दौरा किया। राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों  ने हिमालय वन अनुसंधान संस्थान की पॉटरहिल स्थित नर्सरी को भी करीबी से देखा और विभिन्न वनस्पतियों के बारे में जानकारी हासिल की। इस अवसर पर स्वयंसेवी छात्रों ने पॉटरहिल के जंगल में फैले कूड़े-कचरे को साफ किया और स्वच्छता के बुलंद नारे व गीत भी गाए। तदोपरांत,  जाइका मुख्यालय में उन्होंने जाइका से संबंधित जानकारी भी अर्जित की, कि कैसे परियोजना के माध्यम से वन आश्रित समाज को साथ लेकर वन पारिस्थितिकी तंत्र प्रबंधन को मजबूत किया जा रहा है और उनकी आजीविका में भी सुधार किया जा रहा है।

इस मौके पर अतिरिक्त प्रधान मुख्य अरण्यपाल एवं मुख्य परियोजना निदेशक, नागेश कुमार गुलेरिया ने  छात्रों को सम्बोधित करते हुए सबका स्वागत किया और राष्ट्रीय सेवा योजना बालूगंज की टीम की सराहना करते हुए कहा कि इस तरह की गतिविधियों से समाज और देश की प्रगति सम्भव है और उन्होंने छात्रों को विशेषकर नशे से दूर रहने का आह्वान किया। उन्होंने छात्रों को पढाई के साथ खेलकूद, अन्य सामाजिक गतिवधियों में भी बढ़चढ़कर भाग लेने को कहा कि  इससे व्यक्ति का सम्पूर्ण विकास होता है। उन्होंने छात्रों से जंगलों व प्राकृतिक स्त्रोतों को भी बचाने का आह्वान किया। उन्होंने स्वयंसेवी छात्रों को साधुवाद प्रदान किया और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना भी प्रकट की। इस अवसर पर परियोजना निदेशक राजेश शर्मा, वैज्ञानिक एवं परियोजना सलाहकार डॉ. लाल सिंह, बालूगंज विद्यालय के एन.एस.एस. नोडल अधिकारी अनिल अवस्थी, अनुपम गुलेरिया, सुषमा शर्मा इत्यादि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here