जिला में बच्चों द्वारा खेलों मेें कौशल प्राप्त करने व खेल मैदानों की ओर आकर्षित करने के लिए जिला युवा सेवाऐं एवं खेल विभाग, खेल शिविरों का आयोजन कर प्रोत्साहन प्राप्त करें यह निर्देश आज उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने जिला खेल परिषद की बैठक की अघ्यक्षता करते हुए आज यहां दिए । उन्हांेने कहा कि युवाओं को नशे से दूर रखने व इन गतिविधियों की संलिप्तता से बचाव के लिए खेल उपयुक्त माध्यम है जिससे युवाओं का मानसिक व शारीरिक विकास के साथ बौधिक रूप से उन्हें उर्जा भी मिलती है । उन्होंने कहा कि जिला में विभाग के माध्यम से निरन्तर खेल गतिविधियों को बढ़ावा दिए जाने के प्रति प्रभावी तौर पर कदम उठाएं जाऐं । उन्होंने कहा कि विभागीय अधिकारी स्कूलों व महाविद्यालयों में जाकर विद्यार्थियों के साथ खेल गतिविघियों में शामिल होने के लिए विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर खेलों को बढ़ावा देने के प्रति कार्य करें । उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को खेलों में भविष्य तलाशने के लिए प्रेरित करें ताकि शिक्षा के साथ साथ युवा खेलों को अपनाकर भविष्य की सम्भावनाओं को सुदृढ़ करने में सक्ष्म हो सके ।

उन्होंने बैठक में खेल कार्यालय सुन्नी व जुन्गा में स्थित दुकानों की मुरम्मत करने, जिला खेल परिसर कार्यालय के स्तर पर रखे गए सेवादार व सफाई कर्मचारी को खेल परिषद से होने वाली आय से प्रदान किए जाने वाले मानदेय में बढ़ोतरी की भी अनुमति दी । रोहड़ू स्थित आॅउटडोर स्टेडियम का आरक्षण शुल्क दो दिनों के कार्यक्रम के लिए 5 हजार रू0 व जमानत राशि 10 हजार रू0 तय की गई है जबकि कोई भी कार्यक्रम का आयोजन यदि दो दिन से अधिक किया जाता है तो शुल्क राशि प्रतिदिन की दर से व जमानत राशि 10 हजार रू0 की दर से प्रदान करने की भी स्वीकृति दी गई। इंडोर स्टेडियम की व्ययामशाला में कमीशन के आधार पर प्रशिक्षक रखने के बारे में भी स्वीकृति दी गई तथा इडोर स्टेडियम में सीसीटीवी लगवाने व कार्यालय के लिए कम्पयुटर एवं दूरभाष लगाने तथा स्टेडियम की आठ दूकानों को स्टोर के लिए आवश्यक प्रक्रिया के उपरान्त खुली निलामी की स्वीकृति भी दी गई। जिला युवा सेवाऐं एवं खेल कार्यालय में स्थित स्कवेश कोर्ट परिचालक रखने को भी स्वीकार किया गया । सचिव जिला खेल परिसर की वित्तीय राशि तय सीमा के लिए निकासी 10 हजार तथा अध्यक्ष की वित्तीय निकासी को 3 लाख रू0 की स्वीकृति प्रदान की गई । जिला युवा सेवाऐं एवं खेल कार्यालय शिमला द्वारा संचालित सभी इंडोर स्टेडियमों का मासिक सदस्यता शुल्क छात्रों के लिए 250 रू0 तथा गैर छात्रों के लिए प्रति व्यक्ति किए जाने तथा पंजीकरण शुल्क 200 रू0 किए जाने की भी स्वीकृति प्रदान की गई । बैठक में जिला खेल परिषद के समस्त सदस्य, जिला सेवा एवं खेल विभाग के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here