परीक्षाओं को रद्द करना सरकार का सही फैसला रहा

यह चर्चा हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ की राज्य कार्यकारिणी की वर्चुअल बैठक में की गई। बैठक में अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव पवन मिश्रा ने कहा कि कोरोना की विकट परिस्थिति के चलते 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं को रद्द करना सरकार का सही फैसला रहा। इसी कड़ी में दसवीं कक्षा के परिणाम के लिए सरकार और स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा फार्मूला तय कर लिया गया है।

उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर शिक्षक महासंघ की प्रदेश के मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री और स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष के साथ लगातार बैठकर चलती रही। सरकार द्वारा घोषित फॉर्मुले में 100 अंकों के मूल्यांकन के लिए विद्यार्थियों के हर पहलू को ध्यान में रखा गया है। जिसमें नॉन प्रैक्टिकल परीक्षाओं में परिणाम को लेकर नवी कक्षा में प्राप्त अंकों का 10% अंक देने , फर्स्ट टर्म की परीक्षा के 15% अंक, दूसरी टर्म की परीक्षा में 15% अंक , प्री बोर्ड परीक्षा के 40% और हिंदी की परीक्षा के 5% अंकों के साथ अध्यापक द्वारा दिए गए आंतरिक मूल्यांकन के 15% अंक समायोजित करके परिणाम तैयार किया जाएगा। जबकि प्रायोगिक परीक्षा में नवीं कक्षा के कुल अंकों का 10%, फर्स्ट टर्म की परीक्षा के 5%, दूसरी टर्म की परीक्षा के 5%, प्री बोर्ड की परीक्षाओं के 35%, वार्षिक हिंदी की परीक्षा के 5% अंक और प्रैक्टिकल के 25% अंकों के साथ आंतरिक मूल्यांकन के 15% अंक जोड़े जाएंगे। कहा कि परिणाम संबंधी कार्य के लिए बोर्ड द्वारा बेहतर ढंग से फार्मूला तैयार किया गया है ।

शिक्षक महासंघ के प्रांत अध्यक्ष पवन कुमार, महामंत्री विनोद सूद, वरिष्ठ उपाध्यक्ष जयशंकर, उपाध्यक्ष डॉ मामराज पुंडीर, अतिरिक्त संगठन मंत्री सुधीर गौतम, प्रदेश मीडिया प्रभारी दर्शन लाल, भीष्म शर्मा, सुशील मल्होत्रा, सुमित भारद्वाज, रविंद्र कुमार, श्याम सिंह, तिसम ठाकुर ने सामूहिक रूप से प्रदेश सरकार और स्कूल शिक्षा बोर्ड का धन्यवाद व्यक्त किया है।

संघ के प्रांत उपाध्यक्ष डॉ मामराज पुंडीर ने कहा कि शिक्षा विभाग को बेहतर बनाने के लिए इस महामारी में हिमाचल प्रदेश के शिक्षामंत्री आदरणीय गोविंद ठाकुर जी बेहतर काम कर रहे हैं। उनको ऐसे समय मे शिक्षा विभाग मिला, जब प्रदेश के सभी विद्यालयों, कॉलेगो और सभी शिक्षण संस्थान बंद पड़े हैं। ऐसे में शिक्षामंत्री ने प्रदेश के हर अध्यापक जो कोरोना से लड़ रहा है उनसे संपर्क कर एक नहीं उमीद जगाई। डॉ पुंडीर ने कहा कि शिक्षामंत्री द्वारा प्रदेश के बच्चों, अभिभावकों और शिक्षकों से संवाद बनाये रखने से शिक्षकों में एक उत्साह है। इसके लिए हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ शिक्षामंत्री का आभार व्यक्त करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here