हिमाचल सरकार का ऐतिहासिक फैसला, 23 वर्ष की सेवा में ऐसा पहली बार देखा ।

प्रदेश सरकार की केबिनेट बैठक में ऐसा पहली बार हुआ, शिक्षा विभाग में 4000 शिक्षको के पद भरने का फैसला किया हो । हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के प्रान्त अध्यक्ष पवन कुमार, प्रान्त संगठन मंत्री पवन मिश्रा, प्रान्त उपाध्यक्ष डॉ मामराज पुंडीर, प्रान्त महामंत्री विनोद सूद, प्रान्त मिडिया प्रभारी दर्शन लाल, प्रान्त उपाध्यक्ष विजय कंवर,ललिता वर्मा सहित सभी जिलो के प्रधान, कार्यकारिणी के सदस्यों ने प्रदेश सरकार के फैसले का स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर, शिक्षामंत्री गोविन्द ठाकुर सहित मन्त्रिमन्डल के सभी सदस्यों सहित शिक्षा विभाग के अधिकारीयों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार के इस फैसले से वर्षो से नोकरी की राह देख रहे बिरोजगार साथियों को नौकरी का मौका मिलेगा ।

हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के प्रान्त उपाध्यक्ष डॉ मामराज पुंडीर ने कहा कि प्रदेश की जय राम सरकार कर्मचारी हितेषी सरकार है इसका उदाहरण देखने को मिलता है । शिक्षा विभाग में कई वर्षो से शारीरिक शिक्षको, कला अध्यापको, योगा अध्यापको के पदों को भरने की प्रक्रिया बंद करके हजारो अध्यापको को पिछली सरकार में सडको में आने पर मजबूर कर दिया था । और शिक्षा के अधिनियम का बहाना बनाया जाता था । हिमाचल प्रदेश में जब से जय राम ठाकुर ने सता सम्भाली है , प्रदेश के हजारो शिक्षको ने राहत की साँस ली है । पहले पीटीए, पैरा, पेट, ईजीएस सहित हजारो अध्यापको को रेगुलर किया । जो पिछले कई वर्षो से पिछली सरकार द्वारा प्रताड़ित किये गये थे । प्रदेश की जय राम सरकार ने पहली बार शिक्षको के साथ खुले मन से वार्तालाप क्र हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ की मांगो को पूरा क्र सभी समस्याओं को हल करने का ऐतिहासिक फैसला लिया है उसके लिए संगठन हमेशा आभारी रहेगा ।

हिमाचल प्रदेश के इतिहास में आज ऐसा पहली बार हुआ है जब राज्य मंत्रिमंडल द्वारा एक ही विभाग में 4000 पद भरने का निर्णय लिया गया हो। हालांकि मंत्रिमंडल द्वारा हजारों की संख्या में नौकरी के पिटारे खुलते रहे हैं लेकिन एक ही विभाग में इतनी बड़ी तादाद में पद भरने का निर्णय पहली बार ही लिया गया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में आज हुई कैबिनेट बैठक में शिक्षा विभाग में ड्राइंग शिक्षकों के 820 पदों और शारीरिक शिक्षा अध्यापकों के 870 पदों सहित शिक्षकों की विभिन्न श्रेणियों के 4000 पदों को भरने का निर्णय लिया गया है। इन 4000 पदों में से 2640 पद प्रारंभिक शिक्षा विभाग जबकि 1360 पद उच्चतर शिक्षा विभाग में अनुबंध आधार पर भरे जाएंगे। जानकारी के अनुसार शिक्षकों के विभिन्न पद बैच आधार पर शीघ्रता से भरे जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि ड्राइंग टीचर्ज अपनी भर्ती को लेकर पूर्व सरकार के कार्यकाल के दौरान कई दफा सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर चुके हैं। बावजूद इसके उनकी मांगों पर गौर नहीं किया गया। उसके बाद इन शिक्षकों को जयराम सरकार से काफी आशाएं रहीं। ऐसे में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी ड्राइंग शिक्षकों की आशाओं पर खरा उतरते हुए आज प्रमुखता से उनके पक्ष में निर्णय लिया। अब इन शिक्षकों के 820 पदों पर भर्ती होगी। इतना ही नहीं शारीरिक शिक्षा अध्यापकों के भी 870 पद भरे जाएंगे। इस फैसले से बेरोजगार प्रशिक्षुओं में खुशी की लहर है।

बेशक, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व उनके नेतृत्व वाली राज्य सरकार के प्रति विपक्ष कितने भी जुबानी हमले बोलें लेकिन जनता को सरकार के कार्य धरातल पर नजर आ रहे हैं। जयराम सरकार अपनी प्रतिबद्धता को प्राथमिकता से पूरा कर रही है। सीएम जयराम ने शिक्षा विभाग में उक्त पदों पर भर्ती करने का भरोसा दिलाया था जिसे आज पूरा कर लिया गया। हिमाचल में जयराम सरकार द्वारा रोजगार के द्वार अभी और भी खोले जाएंगे इसका इंतजार रहेगा, ऐसा इसलिए क्योंकि जयराम सरकार ने इस वर्ष 30 हजार पद भरने की घोषणा की है। इस दिशा में सरकार ने कदम उठाना शुरू कर दिया है और आज उसका ट्रेलर भी दिखा दिया है। रोजगार क्षेत्र में जयराम सरकार की गति को देखकर विपक्ष के नेता भी काफी हैरान हैं।

हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ ने हिमाचल प्रदेश में पिछले तीन वर्षो में दो प्रान्त अधिवेशन करवाए है जिसमे प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर, शिक्षामंत्री गोविन्द ठाकुर जी उपस्थित रहे । हाल ही में मंडी के कन्सा चौक में हजारों अध्यापको को मुख्यमंत्री और शिक्षामंत्री का आशीर्वाद प्राप्त हुआ। हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ प्रदेश के शिक्षको की समस्याओं को हल करने के लिए हमेशा प्रयासरत है और आगे भी रहेगा । डॉ मामराज पुंडीर ने कहाँ की जल्द ही प्रदेश सचिवालय में हाई पॉवर कमेटी की बैठक क्र शिक्षको की समस्याओं को हल करवाया जायेगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here